19.7.12

गाय





16 comments:

  1. दिख तो गाय
    जैसी ही रही है
    अब आप भी तो
    गाय ही कह रहे हैं ना !!

    ReplyDelete
  2. पानी बरसने में गोधूलि नहीं दिख रही है.

    ReplyDelete
  3. सुंदर चित्र .........

    ReplyDelete
  4. hariyali aur gaay .donon sundar....

    ReplyDelete
  5. (१)
    किसी शहर में गायों का यूं पंक्तिबद्ध होकर , कदम ताल मिलाकर चलना हम इंसानों के ट्रेफिक सेन्स के लिए चुनौती है अब देखिये ना एक गधा इस अनुशासन प्रदर्शन के बीच घुस लिया :)

    ( पीछे की ओर उसके पास संभवतः साइकिल है )

    एक और ख्याल आता है कि जैसे शिक्षकगण अपनी मांगों के लिए सड़क पर उतर आये हों :)

    (२)
    दूसरे चित्र का इंसान आखिर को आ ही गया ना अपनी औकात पे :)

    ReplyDelete
  6. कलियुग में गायों के भी रंग बदल गए हैं .

    ReplyDelete
  7. बेमिसाल चित्र ...!

    ReplyDelete
  8. ये बीचयू कैंपस की तस्वीरें है?

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी, यह बी एच यू कैंपस की तश्वीरे हैं। यहाँ, विश्व विद्यालय की अपनी गो शाला है।विद्य़ार्थियों को शुद्ध दूध की सप्लाई यहीं से होती है।

      Delete
    2. शुद्ध!! डरायेंगे अभिषेक जी को?
      अगली बार बैरीकूल बनारस पहुँच जाएगा, फिर न कहियेगा चेताया नहीं था :)

      Delete
  9. बचपन की यादें ताज़ा हो गयी, मासी के यहाँ इतनी सारी गायों को देखना बड़ा ही मनोहारी द्रश्य होता था...

    ReplyDelete
  10. आती हुई गायें और जाती हुई गायें...दोनों अंदाज़ जुदा हैं !

    नीचे वाले चित्र में हांकने वाले का जल-बिम्ब कमाल का है !

    ReplyDelete
  11. हमने देखा है डेरी फारम का. हि. वि. वि. वाला . अभिये त एक डेढ़ साल पहिले नया वाला क उदघाटन भया रहा.

    ReplyDelete