21.1.20

अचानक से नहीं मरेगा आदमी

आदमी के मरने से पहले
पढ़ना छोड़ देंगे लोग
कविताएँ
खरीदना छोड़ देंगे
उपन्यास
सुन ही नहीं पाएंगे
गीत
शोर लगने लगेगा
संगीत
अखबार के पृष्ठों से
गुम हो जाएगा
खेल समाचार,
कार्टून का कोना और
व्यंग्यालेख!

टी.वी. में
लोकप्रिय नहीं रह जाएंगे
मनोरंजन के चैनल
लोग देखेंगे
सिर्फ समाचार
फ्लॉप होने लगेंगे
प्रेम कहानियों वाले फ़िल्म
सुपर हिट होने लगेंगे
युद्ध और हिंसा की कहानियाँ
गुम हो जाएंगे
मास्टर हवेली राम,
नीम का पेड़,
नित नए बनेंगे
सेक्स और अपराध वाले
सीरियल

अचानक से नहीं मरेगा आदमी
उससे पहले
गुम हो जाएंगे
इंसानियत के सभी चिन्ह!
अभी तो लोग
पढ़ते हैं
कविताएँ
सुनते हैं
गीत
लगता है
पुस्तकों का बहुत बड़ा मेला।
.....…….

5 comments:

  1. आपकी लिखी रचना "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" आज मंगलवार 21 जनवरी 2020 को साझा की गई है...... "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    ReplyDelete
  2. वाह ! जब तक जिंदा है कविता आदमी जिंदा रहेगा !

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया

    ReplyDelete
  4. If you looking for Publish a book in India contact us today for more information

    ReplyDelete